fbpx

ये है स्व: श्री पांडुरंग मेने काका “Justice For Mene Kaka”

we want justice

ये है स्व: श्री पांडुरंग मेने काका, peon (Mahim Polytechnic MUMBAI) उम्र 59 साल , जो कि अगले वर्ष रिटायर होने वाले थे पर उस से पहले ही उनके अफसर ने उनको मौत कि नींद सुला दिया।

इनका कसूर ये था कि ये अपने काम के प्रति निष्ठावान  होने के साथ साथ गरीब और बेबस थे जोकि इस कोरोना  काल में आमदनी के अभाव में अपने परिवार कि रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने के लिए  संघर्ष कर रहे थे।

इसी बात का इनके अफसर ने नाजायज फायदा उठाया और इनको मौत की नींद सुला दिया ।

इनकी खराब सेहत और उम्र को नजरंदाज करते हुए इनको Polytechnic कॉलेज जो की माहिम ( धारावी के नजदीक कंटेनमैन जॉन में है ) में जबरदस्ती बुलाया जाता रहा क्योंकि वहां के अफसर अपनी एक फाइल को एक जगह से उठा कर दूसरी जगह रखने में सक्षम नहीं थे।

जिसके चलते उनकी बिगड़ी हुए सेहत और बिगड़ती चली गई , छुट्टी मांगे जाने पर उनको नौकरी से निकालने की और जीना मुश्किल करने कि अवेज में शिकायत ना करने की धमकी देकर उनका शोषण करते रहे।  क्यूंकि वो गरीब और लाचार थे उनके पास परिवार का गुज़ारा करने के लिए दूसरा रास्ता नहीं था और मजबूरन उनको कॉरोना के संक्रमण के चलते जान जोखिम में डाल कर 3 घंटे एकतरफा सफर कर के बस से आना पड़ता था।  और एक दिन ऐसा आया की कोरॉना की जंग में उनको संक्रमण हो गया और लगातार बिगड़ती हालत के चलते दुनिया छोड़ के चले गए।

we want justice                                                    Breaking news

दोस्तो ये कोई आम मृत्यु नहीं है ये कथकतीत तौर पर मर्डर है जिसमें उस कॉलेज के प्रिंसिपल शामिल है।

आपके कुछ सेकंड मेने काका को इंसाफ दिलवा सकता है। आप से हाथ जोड़कर 🙏🙏 कर विनती है इस घटना को जितना हो सके शेयर करे ताकि पुलिस  और सरकार दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही कर सके

हमारी एक छोटी सी पहल दिवंगत आत्मा को इंसाफ दिलवाकर शांति दे सकती है ! 🙏

#justiceformenekaka 
#menekaka
#mahim 

#ripmenekaka

 

Show Buttons
Hide Buttons